Mon Feb 2 5:39:41

केजरीवाल ने किरण बेदी को कहा, शुक्रिया
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भाजपा के मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी को शुक्रिया अदा किया है। केजरीवाल ने कहा है कि वह शुक्रगुजार हैं कि भाजपा ने अपने हालिया पोस्टर में उनके परिवार को नहीं घसीटा। दिल्ली में 7 फरवरी को विधानसभा चुनाव हैं। भाजपा के नए पोस्टर में केजरीवाल को अकेले ही एक घर के बार बैठा दिखाया गया है। इसमें लिखा है, आम आदमी हूं जी सरकारी बंगला नहीं अपनाउंगा। पर 15 दिन में ही आलीशान मकान में जम जाउंगा। इसे केजरीवाल ने ट्वीट किया है, किरण बेदी जी भाजपा के हालिया चुनावी पोस्टर से मेरे परिवार और बच्चों को दूर रखने के लिए मैं आपका शुक्रगुजार हूं। बता दें कि इन दिनों भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच जुबानी जंग के साथ-साथ पोस्टर वार भी चल रही है। पिछले दिनों भाजपा ने एक पोस्टर जारी किया था, जिसमें केजरीवाल को उनके बच्चों की झूठी कसम खाने पर लताड़ा गया था। इसमें केजरीवाल अपने बच्चों के सिर पर हाथ रखे हुए नजर आ रहे थे। इससे पहले आम आदमी पार्टी की ओर से एक पोस्टर जारी किया गया था, जिसमें अरविंद केजरीवाल को ईमानदार और भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी को अवसरवादी कहा था। यह पोस्टर दिल्ली के ऑटो रिक्शा पर लगाए गए हैं। किरण बेदी ने इसी पोस्टर को लेकर केजरीवाल को नोटिस भेजकर जवाब मांगा था।
मोदी के रैली स्थल के पास कार में मिला किशोरी का शव
पूर्वी दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली के सियासी दंगल में भाजपा का परचम लहराने को मैदान में उतरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को आम आदमी पार्टी पर तीखा हमला बोला। पीएम मोदी की रैली के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। इन सबके बावजूद रैली स्थल से कुछ दूरी पर कार में किशोरी का शव मिलने से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। बताया जा रहा है कि शव को वहां छोड़कर एक युवक फरार हो रहा था, लेकिन लोगों ने उसे पकड़ लिया। बाद में उसकी पहचान विश्वास नगर निवासी 19 वर्षीय अनुज के रूप में की गई। किशोरी की पहचान रूपल शर्मा(16) के रूप में की गई है। पुलिस को कार से सल्फास की गोलियां, छात्रा के कानों की बालियां, बैटरी निकला हुआ मोबाइल व स्कूल बैग के अलावा कुछ अन्य सामान मिला है। जिस कार में शव मिला है उस पर कांग्रेस के प्रत्याशी नसीब सिंह का चुनावी स्टीकर लगा था। किशोरी के परिवार ने आरोप लगाया है कि आरोपी काफी समय से रूपल को परेशान कर रहा था। वह उसे धमकी भी देता था। उसने परिवार के लोगों को भी धमकी दी थी। परिवार का आरोप है कि उनकी बेटी की हत्या की गई है। आनंद विहार थाना पुलिस युवक से पूछताछ कर पूरे मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस के अनुसार रूपल परिवार के साथ गली नंबर-चार, विश्वास नगर में रहती थी। परिवार में पिता देवेंद्र शर्मा, मां रेनू और दो छोटे भाई हैं। रूपल सवरेदय विद्यालय सूरजमल विहार में 11 वीं कक्षा में पढ़ती थी। शनिवार सुबह देवेंद्र बेटी रूपल व बेटे सूरज को स्कूल छोड़कर आ गए थे। इस बीच दोपहर सवा एक बजे हेडगेवार अस्पताल से देवेंद्र को सूचना मिली कि रूपल का शव कार में मिला है। दरअसल, अनुज कार लेकर अस्पताल पहुंचा और कार को पार्क कर वह भागने लगा। इसी बीच लोगों को शक हुआ और उन्होंने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में अनुज ने बताया हैं कि रूपल साथ सल्फास लाई थी। उसने खुद ही सल्फास की गोली खा ली थी। इस मामले में पुलिस दोनों परिवारों के सदस्यों से पूछताछ कर रही है। शुरुआती पूछताछ में यह भी पता चला है कि अनुज कांग्रेस कार्यकर्ता है। उसके लाल रंग की जेन कार पर विश्वास नगर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार नसीब सिंह का चुनावी स्टीकर लगा हुआ है। पुलिस कार को कब्जे में लेकर उसकी जांच कर रही है।
दिल्ली दंगल बना मोदी बनाम केजरीवाल
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के मतदान से महज एक सप्ताह पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद प्रचार की कमान संभाली। शनिवार को पूर्वी दिल्ली की 17 सीटों के लिए आयोजित जनसभा में मोदी ने आम आदमी पार्टी (आप) को निशाने पर रखा। उन्होंने कहा कि आप ने दिल्ली वालों की पीठ में छुरा घोंपा है। जनता के सपनों को चकनाचूर किया है। दिल्ली को बर्बाद किया है। उसे किसी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए। जवाब में आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि हमारी नीयत साफ है और नेतृत्व बेदाग। हम दिल्ली वालों को जिंदगी को आसान बनाते हुए इसे ग्लोबल सिटी बनाएंगे।
डंका बजाने वाली सरकार बनाएगी दिल्ली - मोदी:
प्रधानमंत्री मोदी ने उम्मीद जताई कि एक बार धोखा खा चुकी दिल्ली की जनता इस बार ऐसी स्थिर सरकार बनाएगी जिसका डंका पूरे भारत में उसी तर्ज पर बजेगा जैसा आज विश्व में भारत का बज रहा है। मोदी ने कहा कि चुनाव में आरोप-प्रत्यारोप के साथ झूठे वादे व भ्रम फैलाने का प्रचार भी होता है, लेकिन जनता जनार्दन में दूध का दूध पानी का पानी परखने की बहुत ताकत होती है। जनता एक बार गलती कर सकती है बार-बार नहीं। जनता की आंखों में एक बार धूल झोंकी जा सकती है लेकिन बार-बार नहीं। एक साल पहले जिन सपनों को लेकर इनको दिल्ली की जनता ने मत दिया था, उन्होंने ही लोगों की पीठ पर छुरा घोंपा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि इस चुनाव को इस रूप में देखा जाए कि पूरे विश्व के सामने हम किस रूप में दिल्ली को प्रस्तुत करते हैं। मैं इसलिए दिल्ली आया हूं, क्योंकि आपने मुझे बुलाया है। मैं गद्दी पर बैठने नहीं आया हूं। आपकी सेवा करने आया हूं। आपके कंधे से कंधा मिलाकर चलने आया हूं। पिछले 15 सालों में दिल्ली ने जो बर्बादी देखी है, उसे उन मुसीबतों से बाहर निकालने आया हूं। आप लोगों ने मुझे प्रधानमंत्री बनाकर साउथ ब्लॉक में बैठने की जगह तो दे दी, लेकिन मुझे यहां की हर गली व मुहल्ले की सेवा करने का मौका चाहिए। मोदी ने कहा कि दिल्ली में ऐसी सरकार बनाइए, जिसके साथ मैं आपकी हर समस्या का समाधान कर सकूं।
आप का आधी दर पर बिजली व मुफ्त पानी का वादा
दिल्ली चुनाव के सिलसिले में शुक्रवार को आम आदमी पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। घोषणा पत्र में 70 वादे किए हैं, जिनमें पानी की उपलब्धता को कानूनी अधिकार का दर्जा देने की बात कही गई है। सात सौ लीटर प्रतिदिन पानी का उपभोग मुफ्त होगा। इसी प्रकार से बिजली की दरों को आधा करने की भी घोषणा की गई है। झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों को पक्का मकान देने का वादा किया गया है।
घोषणा पत्र में सरकार बनने पर पूरे दिल्ली में वाई-फाई की मुफ्त सुविधा देने का वादा किया गया है। महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पूरी दिल्ली में 15 लाख तक सीसीटीवी कैमरे लगाने की घोषणा की गई है, जिससे उनमें शोहदों और असामाजिक तत्वों की गतिविधियों को देखकर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। व्यापारियों को लुभाने के लिए आप ने वैट (वैल्यू एडेड टैक्स) को कम करने का भी वादा किया है।
चिट्ठी से पीएम का नाम न हटाने पर किया बर्खास्त
नई दिल्ली। विदेश सचिव के पद से अचानक हटाई गईं सुजाता सिंह का कहना है कि पीएमओ ने उन्हें समयपूर्व सेवानिवृत्ति की चिट्टी से प्रधानमंत्री का नाम हटाने का निर्देश दिया था। जब उन्होंने मोदी का नाम हटाने से इंकार कर दिया तो उन्हें विदेश सचिव पद से हटा दिया गया। एक निजी चैनल से शनिवार को बात करते हुए उन्होंने कहा कि 28 जनवरी को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया कि प्रधानमंत्री एस. जयशंकर को विदेश सचिव बनाना चाहते हैं। मैंने तत्काल ही 'प्रधानमंत्री से मिले निर्देशों के अनुसार समयपूर्व सेवानिवृत्ति के लिए अपना आवेदन भेज दिया। कुछ देर बाद प्रधानमंत्री कार्यालय से फोन आया कि क्या मैं आवेदन से प्रधानमंत्री का उल्लेख हटाने पर विचार कर सकती हूं? इस पर मैंने कहा कि प्रधानमंत्री के निर्देश पर ही मैंने यह फैसला लिया है। इसलिए अपने पत्र से मैं उनका उल्लेख नहीं हटाऊंगी। एक अन्य सवाल के जवाब में पूर्व विदेश सचिव ने कहा कि सरकार में शामिल कुछ लोगों ने उनके खिलाफ मीडिया में अभियान छेड़ रखा था। ये लोग उनके विरोध में कहानियां फैला रहे थे। हालांकि, उन्होंने कहा कि वे इस तरह चुनिंदा सूचनाओं को लीक करने में विश्वास नहीं रखती हैं। पूर्व राजनयिक ने इसके साथ ही स्पष्ट कर दिया कि उनके लिए मुद्दा खत्म हो चुका है। वह अब अपना ध्यान बुनाई, बागवानी व अन्य कामों में लगाएंगी।
आइएस में शामिल होने जा रही किशोरी तुर्की से लौटी
हैदराबाद। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) में शामिल होने जा रही यहां की 19 वर्षीय किशोरी तुर्की से यहां लौट आई। वह पिछले दस साल से कतर में रहती थी। वहां से तुर्की पहुंच गई थी, लेकिन वहां पहुंचने के बाद हालात देखकर अपना इरादा बदल लिया और अपने माता-पिता के पास यहां लौट आई।
कतर से दूसरी महिला के साथ पहुंची थी तुर्की
यह घटना हालांकि दो माह पहले की है। हैदराबाद के पुलिस आयुक्त एम महेंदर रेड्डी ने संवाददाताओं को यहां बताया कि ऐसी सूचना है कि हैदराबाद शहर की रहने वाली एक किशोरी जो पिछले 10 साल से कतर में रहती थी अपने अपार्टमेंट में रहने वाली एक अन्य महिला के प्रभाव में आकर आइएस में शामिल होने जा रही थी।
दोनों तुर्की तक गई थीं। वहां पहुंचकर इस किशोरी का इरादा बदल गया और भारत लौट आई। यह पूछने पर कि क्या शहर की पुलिस ने उसे सलाह दी थी? जवाब में पुलिस आयुक्त ने कहा कि यह घटना दो माह पहले की है। हम लोग उसे भारत नहीं लाए वह खुद भारत लौटी है।
हैदराबाद में रहते हैं उसके माता-पिता
खुफिया विभाग से जुड़े एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसके माता-पिता यहां रहते हैं। जब वह इराक नहीं जा सकी और वहां के हालात देखी तो तो यहां लौट आई।
आतंकी प्रशिक्षण लेने की जानकारी नहीं
मीडिया की उन खबरों पर जिनमें कहा गया था कि हैदराबाद से एक महिला आइएस में शामिल होने गई थी। वहां आतंकी गुट से प्रशिक्षण ली थी पुलिस आयुक्त ने कहा कि हमारे पास ऐसी कोई सूचना नहीं है। यह सच नहीं है कि वह आइएस में शामिल हो गई थी और प्रशिक्षण लिया था।
पिछले साल हैदराबाद पुलिस ने शहर के छह युवकों को गुट का खुलासा किया था जो कथित रूप से सोशल नेटवर्किंग साइट पर आइएस के प्रचार से प्रभावित होकर उसमें शामिल होने की कोशिश कर रहे थे। इनमें एक गूगल का पूर्व कर्मचारी भी था।
पुलिस कर रही सभी सोशल नेटवर्किंग साइटों की स्कैनिंग
पुलिस आयुक्त ने कहा, यहां हमलोग हैदराबाद में वास्तव में सभी सोशल नेटवर्किंग साइट्स को स्कैन कर रहे हैं। जो भी इन साइटों पर आइएस के प्रचार वाली सामग्री के संपर्क में मिल रहा है हम उनसे संपर्क कर रहे हैं और उनके माता-पिता को उनके बारे में बता रहे हैं। अब तक हम सफल रहे हैं। यदि कोई लक्ष्मण रेखा पार करने की कोशिश करेगा तो निश्चित रूप से कानून अपना काम करेगा।
दुल्हन ने लिया साहसिक फैसला, शराबी दूल्हे को सिखाया सबक
हापुड़। वर्तमान समय में लड़किया आत्मनिर्भर हो रही हैं और अपने फैसले खुद ले रही हैं। उत्तरप्रदेश के हापुड़ जिले में ऐसा ही एक मामला सामने आया। हापुड़ के धौलाना थाना क्षेत्र के कंदौला की युवती ने साहसिक निर्णय लेते हुए वरमाला के दौरान वर को नशे में देख शादी करने से इन्कार कर दिया। लड़की के इस साहसिक हौसले को देख उसके परिजन भी उसके पक्ष में खड़े हो गए। बात बिगड़कर मारपीट तक पहुंच गई। बाद में दुल्हन की शादी बरात में आए छोटी बहन के देवर से कर दी गई। कंदौला निवासी ओमपाल चौहान ने अपनी दो बेटियों प्रिया व सोनम की शादी एक साथ करने का निर्णय लिया। शुक्रवार को दोनों की बरात आ गई। प्रिया की बरात जनपद मुजफ्फरनगर के गांव नगुवा से आई, तो सोनम की बरात मेरठ के मुल्हेड़ा से। दोनों की शादी की रस्म शुरू हो गई। वहीं नगुवा से आए दूल्हे ने चढ़त के दौरान शराब के नशे में कभी बाजेवालों को तो कभी किसी ग्रामीण को गाली देनी शुरू कर दी। धीरे-धीरे बात वरमाला तक पहुंची। स्टेज पर पहुंची प्रिया पर भी उसने रौब गालिब किया। इस पर प्रिया ने हिम्मत कर स्पष्ट कह दिया कि वह शराबी व गाली-गलौज करने वाले युवक से शादी नहीं करेगी। बात बिगड़ी, तो वर पक्ष के लोग नाराज हो गए और मारपीट करने लगे। बाद में गणमान्य लोगों ने शादी न करने का फैसला सुनाते हुए बरात को लौटा दिया। सोनम की शादी गांव मुल्हैड़ा निवासी कुंवरपाल सिंह के बड़े बेटे मोनू से करा दी गई। इस पर कुंवरपाल सिंह ने कहा कि ओमपाल अब रिश्तेदार हैं और उनका मान-सम्मान उनसे भी जुड़ा है। उन्होंने प्रिया की शादी अपने छोटे बेटे मोहित से करने की बात कही। युवती और घरवालों ने इस पर सहमति दे दी। प्रिया की शादी मोहित से कर दी गई और प्रिया अपनी ही छोटी बहन की देवरानी बन गई। गांव में शराब के खिलाफ अभियान की अगुआई कर रहे ओमपाल राणा ने प्रिया के साहस की प्रशंसा करते हुए कहा है कि ऐसी बेटियां ही उनकी मुहिम को मुकाम हासिल कराएंगी।
मौत से पहले बोली बच्ची, अम्मी उसे छोडऩा मत, वो फिर जला देगा
इंदौर। सिकंदराबाद कॉलोनी में आग से जली बच्ची यास्मीन अली ने शनिवार सुबह एमवाय अस्पताल में दम तोड़ दिया। परिजन का कहना है कि मौत से पहले वह तड़प रही थी। दहशत में वह चीखते हुए कह रही थी कि वो मुझे फिर जला देगा, अम्मी उसे मत छोडऩा। 29 जनवरी को यास्मीन पुलिसकर्मी प्रकाश की बेटी की साइकिल चला रही थी। यह देख प्रकाश ने उसे खूब पीटा। बच्ची जब मार से बचने के लिए घर में चली गई तो प्रकाश वहां भी घुस गया। फिर बच्ची घर से जलती हुई बाहर निकली। लोगों ने आग बुझाकर उसे अस्पताल पहुंचाया। दो दिन बाद सुबह साढ़े 5 बजे उसकी मौत हो गई। यास्मीन पांचवीं की छात्रा थी। उसके परिवार में मां, बड़ा भाई महफूज और दो बहनें नीलो व नाजमीन हैं। यास्मीन के पिता मुमताज अली का पांच साल पहले देहांत हो चुका। मां रेहाना लोगों के घरों में काम कर बच्चों की परवरिश कर रही थी। यास्मीन को खो चुकी रेहाना के दिल में जितना दु:ख है, उससे ज्यादा प्रकाश के लिए गुस्सा है।
प्रकाश ने ही बेटी को जलाया
रेहाना का आरोप है कि प्रकाश ने ही उनकी बेटी को जलाकर मार डाला। यास्मीन दो दिन से तड़प रही थी। उसके दिल में इतनी दहशत थी कि वह रात में चीखती थी कि अम्मी मुझे बचा लो। वो आकर फिर मुझे जला देगा।
बेटी को इंसाफ नहीं मिला तो सड़क पर उतर जाऊंगी
रेहाना ने कहा कि पुलिस प्रकाश का बचाव कर रही है। यदि उस पर हत्या का केस दर्ज नहीं होगा तो मैं बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए सड़क पर उतर जाऊंगी। भाई महफूज ने कहा कि साइकिल छुड़ाकर प्रकाश बहन को पीट देता तो कोई बात नहीं थी, लेकिन उसने उसे जला दिया। पुलिस बोलती है कि लड़की ने खुद को आग लगा ली। आखिरकार 11 साल की बच्ची खुद को क्यों जलाएगी।
जिंदा थी, तब पुलिस को बताई थी आपबीती
परिजन का कहना है कि घटना की रात अस्पताल में सदर बाजार थाने से एएसआई एलएन पाटीदार आए थे। बच्ची बोल रही थी कि मुझे जला दिया। फिर भी वह बयान नहीं लिख रहे थे, जबकि बेटी उन्हें आपबीती सुना रही थी।
परिवार बोल रहा झूठ
इस बारे में पाटीदार का कहना है कि परिवार झूठ बोल रहा है। बच्ची बयान देने की स्थिति में नहीं थी। इसलिए उसके बयान दर्ज नहीं हुए। हम प्रकाश को क्यों बचाएंगे। जांच में यदि वह दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।
ज्यादती की आशंका, पीएम रिपोर्ट की इंतजार
रेहाना ने आशंका जताई है कि प्रकाश ने बेटी के साथ घर में ज्यादती भी की होगी। डॉक्टर की पैनल ने यास्मीन का पोस्टमार्टम किया। उसकी वीडियोग्राफी भी कराई। मारपीट, जलाकर मारने के अलावा बच्ची के साथ ज्यादती के बिंदुओं के बारे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही पता चलेगा।
आंखों-देखी
...जब सिटी कोतवाली पुलिस ने सम्हाली रेलवे स्टेशन की व्यवस्था
उपद्रव कर रहे शराबी युवकों में से एक को पकड़ा
सतना (मारुति एक्सप्रेस)।
रेलवे स्टेशन परिसर में देर रात खुली रहने वाली चाय पान की दुकानों में यूं तो तकरीबन रोज ही पियक्कड़ों का जमावड़ा लगता ही रहता है और अक्सर इन्हीं पियक्कड़ों की कारगुजारियों का खामियाजा आने-जाने वाले यात्रियों और दीगर दुकानदारों को भी उठाना पड़ता ही है। कल रात तकरीबन 11 बजे ऐसी ही एक घटना में कुछ शराबी युवकों ने पैसों की लेनदेन को लेकर एक पान की दुकान में पहले तो झगड़ा किया इसके बाद नशे की पिनक में सारी दुकानों में तोड़-फोड़ करते हुये बंद कराने निकल पड़े। इसी बीच मारुति रिपोर्टर मौके पर पहुंचा और उसने अन्य दुकानदारों के माध्यम से सिटी कोतवाली फोन कर दिया, जिस पर तुरंत सिटी कोतवाली से पुलिस आ गई और पुलिस को देखते ही शराबी युवक भागने लगे। बाकी तो भाग गये लेकिन एक युवक पकड़ाी में आ गया। जिसे पुलिस थाने ले गई। जिस प्रकार से सिटी कोतवाली पुलिस ने आनन-फानन कार्यवाही वो वाकई काबिलेतारीफ है। लेकिन सवाल इस बात का है रेलवे स्टेशन में आये दिन उपद्रव होता है तो रेलवे पुलिस क्या करती है? क्या उसे व्यवस्था नहीं सम्हालनी चाहिये ?

बड़े नेता के इशारे पर गलत हुआ : सईद अहमद
: मारुति गेस्ट :
सतना (मारुति एक्सप्रेस)।
बड़े नेता के इशारे पर सतना में कांग्रेस के अंदर जो कुछ भी हो रहा है, गलत हो रहा है। एक आदमी के इशारे पर पूरे जिले की कांग्रेस संचालित की जा रही है। जिसे किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं कहा जा सकता। ऐसा पूर्व वित्त राज्य मंत्री सईद अहमद ने मारुति एक्सप्रेस से बतौर मारुति गेस्ट कहा। उन्होंने कहा कि सतना जिले में एक नेता सजातीय लोगों को बढ़ावा दे रहे हैं। नगर निगम में जिस तरीके से एकतरफा नेता प्रतिपक्ष की नियुक्ति की गयी है उसे किसी भी कोण से उचित नहीं कहा जायेगा। बिना पार्षदों के रायशुमारी के जिस तरीके से नेता प्रतिपक्ष की नियुक्ति की गयी है। उससे कांग्रेस और कमजोर होगी। सईद अहमद ने कहा कि यदि एकतरफा नियुक्ति ही करनी थी तो किसी वरिष्ठ पार्षद को नेता प्रतिपक्ष बनाया जाना चाहिये था। लेकिन पहली बार के पार्षद को नेता प्रतिपक्ष बनाया गया है। ऐसे में कांग्रेस के पार्षद जब उसे नेता ही नहीं मानेंगे तो नेता प्रतिपक्ष बनाने का क्या मतलब। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को बिना विश्वास में लिये जिस तरीके से सतना में कांग्रेस पार्टी संचालित की जा रही है, उसे किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं कहा जा सकता। श्री अहमद ने सवाल उठाते हुये कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का सभी चुनावों में निराशाजनक प्रदर्शन रहा। इस बात की समीक्षा की जानी चाहिये। कांग्रेस के नेता जिस तरीके से पार्टी छोड़ रहे हैं, उसे देखते हुये आप भविष्य में क्या कदम उठाने वाले हैं। इस सवाल के जवाब में श्री अहमद ने कहा कि मैं पैदाइशी कांग्रेसी हूं और मैं किसी दूसरे दल में नहीं जाऊंगा। कांग्रेस में ही रहकर कांग्रेस की गंदगी साफ करूंगा। कौन किस दल में जाता है इस बात को लेकर मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन मैं कांग्रेस में था और कांग्रेस में हूं और आगे भी कांग्रेस में ही रहूंगा। जिस तरीके से कुछ नेता कांग्रेस का नुकसान कर रहे हैं उसे देखते हुये कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को एक बैठक कर डैमेज कंट्रोल की योजना बनानी चाहिये। सतना में नेता प्रतिपक्ष की नियुक्ति ने जो मनमानी तरीका अपनाया गया है उसकी मैं निंदा करता हूं एवं प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व से ये मांग करता हूं कि जिस व्यक्ति ने भी कांग्रेस पार्टी को एक निजी प्रापर्टी की तरह संचालित करने का अपराध किया है। उसके विरुद्ध तत्काल प्रभाव से कड़ी कार्यवाही की जानी चाहिये। यदि ऐसा नहीं किया गया तो कांग्रेस के अंदर मनमानी करने की प्रवृत्ति बढ़ती जायेगी। वैसे भी वर्तमान समय में कांग्रेस का समय इसलिये भी ठीक नहीं चल रहा है कि नेता आपस में एकजुट होकर कार्य नहीं कर रहे हैं। जिसके चलते निरंतर कांग्रेस को अपेक्षित परिणाम नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के किसी नेता द्वारा मनमानी तरीके से किसी व्यक्ति की किसी पद पर नियुक्ति किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं कही जा सकती। कांग्रेस को ये सुनिश्चित करना चाहिये कि भविष्य में इस तरीके के कृत्यों की पुनरावृत्ति न हो और ऐसा करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही हो जिससे कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को एक अच्छा संदेश मिल सके।
                 Image..                         Open a new window
Top News
 
कलेक्टर द्वारा ई व्ही एम सीलिंग कार्य का निरीक्षण
 
चिट्ठी से पीएम का नाम न हटाने पर किया बर्खास्त
 
बिगड़े मौसम ने आफत में डाला
 
संभाग से ख़बरें
Bhopal
117.204.204.144A96728no.jpgभोपाल। भोपाल नगर निगम का महापौर और 83 वार्डों में कौन होगा पार्षद, इसका फैसला श्वङ्करू में बंद हो गया है। अब 4 फरवरी तक भोपाली पटियों पर बैठकर कयास लगाते दि
Satna
Rewa
117.204.204.144A6815Page 1 copy.jpg रीवा.     कलेक्टर ने त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन २०१४-१५ के तारतम्य में द्वितीय चरण के तहत रायपुर कर्चुलियान जनपद अंतरगत होने वाले निर्वाचन हेतु प
 
Jabalpur
117.204.204.144A7668jabalpur-bigry.jpgजबलपुर. पश्चिमी विक्षोभ के असर से हो रही बेमौसम बारिश ने आमजनों को मुसीबत में डाल दिया है। बीते एक सप्ताह से आसमान पर छाए काले घने बादलों ने कल सुबह जमकर ब
Indore
117.204.204.144A2472indor-modi.jpgइंदौर . वरिष्ठ भाजपा नेता और मध्यप्रदेश के काबीना मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने आज दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिल्ली विधानसभा चुनावों के
Sagar
117.204.204.144A30180sagar30012015b1.jpg

सागर. भारत की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहूति देने वाले बलिदानियों की स्मृति में आज ३० जनवरी को प्रदेश के अन्य जिलो की तरह सागर जिले में भी प्र

खेल मनोरंजन फिल्म
गेंद लगने से बल्लेबाज की मौत
चुनाव में हारे हुए नेता पर दौलत की बरसात
सिर्फ पति के लिए आइटम सॉन्ग करेंगी मलाइका
Photo Albums
NO Photo available in this Album!!
 
विज्ञापन
Market Watch
Hot Pictures of the Day
 
 Yes
 No
 Cannot say
 
News paper PDF