Tue May 26 6:52:44

मथुरा रैली के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की धमकी
लखनऊ। मथुरा के दीनदयाल नगर में 25 मई को होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के दौरान उनकी हत्या की सजिश रची जा रही है। आज मथुरा के एसएसपी डॉ. राकेश कुमार को मोबाइल पर इस बाबत एक मैसेज भी मिला है। इस मैसेज के मिलने से जिला प्रशासन के हाथ-पांव फूल गये हैं, केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां भी इसको लेकर काफी संजीदा हैं। दीनदयाल धाम में 25 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा को लेकर चल रही तैयारियों के बीच आज एसएसपी मथुरा डॉ. राकेश कुमार को मिले पत्र और एसएमएस ने समूची सुरक्षा एजेंसियों में खलबली मचा दी है। एसएसपी कार्यालय को एक पत्र मिला है, जिसमें मोदी की सभा को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। एसपी क्राइम अशोक कुमार राय ने स्वीकार किया है कि धमकी भरा पत्र और एसएमएस आया है। पत्र में किस तरह की धमकी दी गयी है। किस व्यक्ति या संस्था का नाम लिखा हुआ है, इसकी पुलिस अधिकारियों ने कोई जानकारी नहीं दी है। इस जानकारी के बाद मथुरा पुलिस के साथ ही प्रधानमंत्री की सुरक्षा और सभा की तैयारियों में लगी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं और अपने तरह से इस मामले की जांच शुरू कर दी है। मथुरा के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिस फोन से एसएमएस किया गया है उसको सर्विलांस पर लगा दिया गया है। पत्र की भी जांच की जा रही है। जल्द ही धमकी देने वाले को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। प्रधानमंत्री के सभा स्थल दीन दयाल धाम में 25 मई को होने वाली सभा में सुरक्षा के प्रबंध कड़े किये जा रहे हैं। सभा स्थल पर पांच हैलीपेड बनाये गये हैं। हर तरफ बैरीकेडिंग कर दी गयी है। समस्त व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए आज हैलीकाप्टर से निरीक्षण के साथ हैलीपेड पर उसे उतार कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया गया। इधर भाजपा की ओर से प्रदेश के प्रभारी ओम माथुर, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी और सुनील बंसल भी यहां पहुंच गये हैं।
सलमान की सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा
मंडी. पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखराम के पौत्र एवं हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री अनिल शर्मा के बेटे आयुष एवं फिल्म स्टार सलमान खान की बहन अर्पिता की शादी की रिसेप्शन की तैयारियां जोरों पर हैं। रिसेप्शन में हिस्सा लेने के लिए सलमान खान भी आ रहे हैं। शनिवार को आयुष अर्पिता की रिसेप्शन की तैयारियों व सलमान की सुरक्षा व्यवस्था का उपायुक्त मंडी संदीप कदम व पुलिस अध्यक्ष मोहित चावला के साथ अनिल शर्मा ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। सलमान खान परिवार सहित 25 मई को हेलिकॉप्टर से सुंदरनगर पहुंचेंगे। खान परिवार छोटी काशी यानी मंडी में तीन दिन ठहरेगा। रिसेप्शन के खाने की व्यवस्था जिमखाना क्लब में की गई है जबकि आम जनता के लिए खाने की व्यवस्था पड्डल मैदान में की गई है।
जानिए, केजरीवाल और केंद्र के बीच जारी जंग की 25 खास बातें
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और उपराज्यपाल नजीब जंग के बीच कई मुद्दों पर जारी तकरार थमने का नाम नहीं ले रही है। इस तकरार में केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि वे उपराज्यपाल के माध्यम से दिल्ली का प्रशासन चलाना चाहते हैं।
आइए जाने कि कैसे हुई तकरार की शुरुआत और क्या-क्या हुआ:
16 मई- दिल्ली के मुख्य सचिव के.के. शर्मा छुट्टी पर गए। वे अपनी बेटी से मिलने अमेरिका गए।
16 मई- उपराज्यपाल नजीब जंग ने शकुंतला गैमलिन को कार्यवाहक मुख्य सचिव बनाया।
16 मई- केजरीवाल ने ऑर्डर मानने से इनकार कर दिया और गैमलिन को चार्ज नहीं लेने के लिए कहा।
16 मई- केजरीवाल परिमल राय को कार्यवाहक मुख्य सचिव बनाना चाहते थे।
16 मई- वरिष्ठ आईएएस अधिकारी शकुंतला गैमलिन ने सुबह दफ्तर पहुंच कर औपचारिक तौर पर कामकाज संभाल लिया।
17 मई- केजरीवाल ने कहा गैमलिन बिजली कंपनियों के लिए लॉबिंग करती थी, इसलिए सरकार का उनपर भरोसा नहीं।
17 मई- गैमलिन की नियुक्ति को मंजूरी देने वाले अधिकारी ऑनिदों मजूमदार को सचिव (सेवा) के पद से हटाकर उनका कामकाज प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार को दिया।
17 मई- प्रधान सचिव के पद पर राजेंद्र कुमारी की नियुक्ति के एक घंटे बाद ही उपराज्यपाल ने आदेश नामंजूर कर दिया।
18 मई- उपराज्यपाल से विवाद के बाद केजरीवाल ने ऑनिदों मजूमदार फिर बहाल कर दिया।
18 मई- ऑटो वालों की रैली में केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर लगाए आरोप। कहा गैमलिन के काम पर नजर रखेंगे।
19 मई- मंगलवार को राष्ट्रपति से मिलकर अरविन्द केजरीवाल ने की उपराज्यपाल की शिकायत। लेकिन, राष्ट्रपति ने मिलकर काम करने की दी सलाह।
19 मई- अरविन्द केजरीवाल ने अरविंद राय को प्रशासनिक विभाग का प्रिंसिपल सेक्रेटरी बनाया। इससे पहले अरविंद राय के पास प्रशासनिक विभाग का अतिरिक्त चार्ज था।
19 मई- उपराज्यपाल नजीब जंग ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से की मुलाकात।
19 मई- 'आप' से निकाले गए योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण ने दिल्ली सरकार का समर्थन किया। योगेंद्र यादव ने कहा कि लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित सरकार की पसंद का सम्मान किया जाना चाहिए।
19 मई- बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आए अरविन्द केजरीवाल के समर्थन में। कहा मुख्य सचिव की नियुक्त मुख्यमंत्री का अधिकार। केंद्र सरकार को दी जनमत का सम्मान करने की सलाह।
20 मई- उपराज्यपाल ने गृह मंत्री से मशविरे के बाद राज्य सरकार द्वारा पिछले चार दिनों में की गई सभी नियुक्तियों को रद्द कर दिया।
20 मई- केजरीवाल ने खुलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार के उपर लगाए आरोप। इससे पहले केवल उपराज्यपाल पर था निशाना।
20 मई- दिल्ली में तैनात 83 आईएएस अफसरों में से 39 अफसरों को केजरीवाल हटाना चाहते हैं, ऐसी बातें सामने आई।
22 मई- केंद्र सरकार ने विवाद में दखल देते हुए नोटिफिकेशन जारी कर एलजी को सुप्रीम बता दिया।
22 मई- केजरीवाल ने कहा कि उनकी लड़ाई एलजी नजीब जंग से नहीं, बल्कि पीएम नरेंद्र मोदी से है।
22 मई- केजरीवाल ने कहा कि केंद्र दिल्ली सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ की जा रही कार्रवाई से डर गया है, इसलिए वे भ्रष्ट कर्मचारियों को बचाना चाहता है।
22 मई- केजरीवाल ने कहा,'आजादी के पहले इंग्लैंड की महारानी यहां वायसराय को अधिसूचना भेजा करती थीं। अब जंग साहब वायसराय हैं और पीएमओ लंदन है।
23 मई- ट्विटर पर नरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल के समर्थकों में छिड़ी 'जंग', केजरीवाल समर्थकों का पलड़ा भारी।
23 मई- कानूनी विशेषज्ञों से केजरीवाल ने ली सलाह। कई केजरीवाल के पक्ष में तो कई उपराज्यपाल से सहमत।
23 मई- केजरीवाल ने दिए केंद्र के नोटिफिकेशन के मामले को अदालत में ले जाने के संकेत
पिछले एक साल में पीएम पद की विश्वसनीयता बढ़ी- जेटली
नई दिल्ली। केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के एक वर्ष पूरे होने पर शनिवार को भाजपा सांसद अनंत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार की उपलब्धियों का बखान किया। उन्होंने कहा कि भाजपा जनकल्याण पर्व मना रही है। मोदी सरकार के एक साल पूरा होने पर अनंत कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 मई को मथुरा में जनसभा और 26 मई को किसान रैली शुरू करेंगे। उन्होंने बताया कि भाजपा योजनाओं के लिए मेला लगाएगी और देशभर में कुल 200 बड़ी रैलियां की जाएंगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 मई को किसान चैनल की शुरुआत करेंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पिछला एक वर्ष ऐतिहासिक रहा। इस दौरान हमने झारखंड और हरियाणा में अपने दम पर सरकार बनाईं। पिछले एक वर्ष में हमने भाजपा के नेतृत्व में पांच राज्यों में सरकार बनाईं है। उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में भाजपा का सदस्यता अभियान सफल रहा है और बीजेपी देश की राजनीति के केंद्र में है। बिहार में अव्यावहारिक गठबंधन हो रहा है, हमें विश्वास है इस बार बिहार में हम सरकार बनाएंगे। जेटली ने कहा कि पिछले एक वर्ष में प्रधानमंत्री की गरीमा लौटी है। उन्होंने कहा कि पार्टी और सरकार में तालमेल है, इस कारण फैसले लेने की गति तेज हुई है। देश के संघीय ढांचे को मजबूत करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने ठोस कदम उठाएं हैं। अच्छे दिनों पर बोलते हुए अरुण जेटली ने कहा कि इस देश से भ्रष्टाचार हट जाए तो ये अच्छे दिन है, देश में सामाजिक सुरक्षा बने ये अच्छे दिन है।
रेल दुर्घटना - सिफुंग एक्स के डब्बे पुल से लटके, बड़ा हादसा टला
गुवाहाटी। असम के कोकराझार जिले में शनिवार सुबह पुल टूटने की वजह से सिफुंग एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। ट्रेन की स्पीड कम होने की वजह से बड़ा हादसा होने से टल गया। हादसे में चार लोग घायल हुए हैं जिसमें ट्रेन का ड्राइवर भी शामिल है। ट्रेन अलीपुरद्वार से गुवाहाटी जा रही थी। शुरुआती जानकारी के मुताबिक कोकराझार के सालाकाटी और बासुगांव स्टेशन के बीच सिफुंग एक्सप्रेस के पांच डिब्बे पटरी से उतर गए जिसमें चार लोग घायल हो गए। घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इन्हें हल्की चोटें आई हैं। घटना के बारे में कहा गया कि ट्रेन के ड्राइवर ने ट्रैक में पड़े ब्लॉक पर ध्यान नहीं दिया जिसके कारण यह हादसा हुआ। बताया जा रहा है कि ट्रेन अगर पुल से नीचे गिर जाती तो बड़ा हादसा हो सकता था लेकिन ट्रेन की गति धीमी होने के कारण बड़ा हदासा टल गया।
जया मामले में रिपोर्ट मिलने के बाद अपील का फैसला- सिद्धारमैया
नई दिल्ली। अन्नाद्रमुक प्रमुख जयललिता के तमिलनाडु की सत्ता में वापसी के बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने शनिवार को कहा कि राज्य का कानून विभाग हाई कोर्ट के फैसले अध्ययन कर रहा है। रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद सरकार अपील दाखिल करने पर फैसला लेगी।
पांचवी बार तमिलनाडु की सीएम बनीं जयललिता
गौरतलब है कि जयललिता के आय से अधिक संपत्ित मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटक हाई कोर्ट में हुई थी, जहां उन्हें सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया था। लेकिन इस पर अब तक सस्पेंस बना हुआ है कि सरकार ऊपरी अदालत में फैसले को चुनौती देगी या नहीं। इससे पहले बेंगलुरु की निचली अदालत ने जयललिता को पिछले साल 27 सितंबर को 266.66 करोड़ रुपये के आय से अधिक संपत्ित मामले में पांच साल की सजा सुनाई थी, जिसके बाद उन्हें मुख्यमंत्री कुर्सी छोडऩी पड़ी थी। लेकिन 11 मई को हाई कोर्ट ने जयललिता को सभी आरोपों से बरी कर दिया। आठ माह बाद एक बार फिर अम्मा ने आज तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है। इस मामले में कांग्रेस हाईकमान द्वारा किसी प्रकार के दिशानिर्देश मिलने के बाबत पूछे जाने पर सिद्धारमैया ने कहा, नहीं, इस मामले में हाईकमान का राज्य को कोई दखल नहीं है। सरकार केस के मेरिट के आधार पर फैसला लेगी।
लखनऊ और पटना में है सबसे ज्यादा बेरोजगारी
नई दिल्ली। राष्टीय नमूना सर्वेक्षण (एनएसएस) के द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी लखनऊ और पटना में है। लखनऊ में सबसे ज्यादा पुरूषों में बेरोजगारी की दर सबसे ऊंची है जबकि पटना में महिलाओं में बेरोजगारी दर सबसे ज्यादा है। यह रिपोर्ट जुलाई 2011 से जून 2012 के आंकड़ों के आधार पर तैयार की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, पहली श्रेणी के शहरों में पुरूषों के लिए बेरोजगारी दर सबसे अधिक लखनऊ (8.5 फीसदी), जबकि महिलाओं के लिए यह सबसे अधिक पटना (34.6 फीसदी) रही। पहली श्रेणी में दस लाख या इससे अधिक आबादी वाले शहरों को रखा जाता है। वहीं 50000 से अधिक और दस लाख से कम की आबाद वाले शहरों को दूसरी श्रेणी में रखा जाता है। इसी तरह 50000 से कम की आबादी वाले शहरों को तीसरी श्रेणी में रखा जाता है। रिपोर्ट के मुताबिक पुरूषों के लिए बेरोजगारी की दर पहली श्रेणी के शहरों में 2.9 फीसद, दूसरी श्रेणी के शहरों में 3.3 फीसद और तीसरी श्रेणी के शहरों में यह 2.6 फीसद रही। इसी तरह महिलाओं के लिए बेरोजगारी की दर पहली श्रेणी के शहरों में 4.3 फीसद, दूसरी श्रेणी के शहरों में 6.3 फीसद और तीसरी श्रेणी के शहरों में यह 4.8 फीसद रही। पहली श्रेणी के शहरों में महिलाओं के लिए बेरोजगारी की दर पटना के बाद कानपुर में 22.7 फीसद रही, जबकि कल्याण, डोंबिविली में यह 11 फीसद रही। वहीं पुरुषों के लिए बेरोजगारी के मामले में लखनऊ के बाद पटना का स्थान रहा जहां बेरोजगारी की दर 8 फीसद रही, जबकि 5.9 फीसद की बेरोजगारी की दर के साथ हैदराबाद तीसरे पायदान पर रहा।
कंडोम के बाद इस विज्ञापन में दिखेंगी सनी लियोन!
मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस और पूर्व पॉर्न स्टार सनी लियोन जल्द ही एक विज्ञापन में नजर आ सकती हैं। सनी लियोन की पिछली फिल्म कुछ कुछ लोचा है फ्लॉप साबित हुई। वहीं इससे पहले आई सनी की एक पहेली लीला भी बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई थी। सनी लियोन इससे पहले एक कंडोम कंपनी का विज्ञापन कर चुकी हैं। यह विज्ञापन काफी चर्चाओं में रहा था, कुछ विवाद भी इसे लेकर खड़े हुआ थे। लेकिन अब सनी लियोन जल्द ही एक पान मसाला कंपनी का विज्ञापन करती नजर आएंगी। एक वेबसाइट की खबर के मुताबिक, सनी लियोन जल्द ही एक पान मसाला कंपनी के विज्ञापन में नजर आ सकती हैं। इस विज्ञापन को लेकर कंपनी और सनी के बीच बात लगभग फाइनल हो गई है। हालांकि अभी पान मसाला कंपनी या सनी लियोन की ओर से इस बात की आधिकारिक सूचना जारी नहीं की गई है। विज्ञापन के अलावा सनी लियोन की झोली में इन दिनों मस्तीजादे, टीना और लोला और वन नाइट स्टैंड जैसी फिल्में हैं।
पांचवी बार तमिलनाडु की सीएम बनीं जयललिता
चेन्नई। आय से अधिक संपत्ति मामले में कुर्सी छोडऩे के महज सात महीने बाद अन्नाद्रमुक सुप्रीमो जे. जयललिता ने आज पांचवी बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। जयललिता के साथ 28 विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली। शपथग्रहण समारोह में सुपरस्टार रजनीकांत भी शामिल हुए। मद्रास यूनिवर्सिटी शताब्दी में आयोजित कार्यक्रम में रजनीकांत के अलावा आइसीसी के चेयरमैन एन श्रीनिवासन, शरत कुमार और यूनियन मिनिस्टर राधाकृष्णण के अलावा कई नेता मौजूद थे।
आपको बता दें कि कर्नाटक हाईकोर्ट के भ्रष्टाचार के आरोपों से बरी किए जाने के 11 दिन बाद ही अम्मा ने मुख्यमंत्री पद संभालने की तैयारी पूरी कर ली। 67 वर्षीय जयललिता की इस वापसी की खुशी में चेन्नई की सड़कों पर जश्न का माहौल है। एक विशेष अदालत द्वारा 27 सितंबर 2014 को दोषी ठहराए जाने के बाद जयललिता को पद से इस्तीफा देना पड़ा था और इसी के साथ विधानसभा में उनकी सदस्यता भी खत्म हो गई थी। जयललिता को विधानसभा का सदस्य बनने के लिए फिर से चुनाव लडना होगा। ऐसी संभावना है कि जयललिता राधाकृष्णन नगर विधानसभा सीट से दोबारा चुनाव लड़ेंगी। इसके लिए पार्टी के एक विधायक पी. वेत्रीवेल ने 17 मई को राधाकृष्णन नगर विधानसभा सीट से इस्तीफा दे दिया था, जिसे विधानसभा अध्यक्ष ने स्वीकार कर लिया था। वेट्रीवेल के इस्तीफे के बाद कर्नाटक की 234 सदस्यीय विधानसभा में एआईएडीएमके के विधायकों की संख्या विधासभा अध्यक्ष को छोड़कर 150 रह गई है। गौरतलब है कि आय से अधिक संपत्ति मामले में गत वर्ष सितंबर में सजा सुनाए जाने के बाद मुख्यमंत्री की कुर्सी छोडऩे को मजबूर हुईं जयललिता को अन्नाद्रमुक विधायक दल ने शुक्रवार को फिर से अपना नेता चुना। इसके बाद मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।
मंत्रिमंडल में पुराने चेहरों को जगह
जयललिता ने 2011-14 के अपने मंत्रिमंडल के पुराने चेहरों को ही नए मंत्रिमंडल के लिए तवज्जो दी है। इसमें उनके विश्वासपात्र और पूर्व मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम को जयललिता कैबिनेट में जगह मिली है। पन्नीरसेल्वम के पास वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी होगी। इसके साथ ही पन्नीरसेल्वम के मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों को बरकरार रखा है। उन्होंने किसी भी मंत्री के विभाग में कोई परिवर्तन नहीं किया है।
जयललिता का राजनीतिक करियर
एआईएडीएमके के संस्थापक नेता एमजीआर की सहयोगी जयललिता 1980 की शुरुआत में पार्टी की प्रचार सचिव नियुक्त की गई थीं। 1984 में पार्टी ने उन्हें राज्यसभा सांसद बना दिया। 1989 में पहली बार जयललिता तमिलनाडु विधानसभा की सदस्य बनीं। दो साल बाद 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद हुए चुनावों में उन्होंने व्यापक जीत दर्ज की और पहली बार राज्य की मुख्यमंत्री बनीं। 1996 में भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच उनकी सरकार सत्ता से बाहर हो गई। हालांकि 2001 में वह एक बार फिर सत्ता में वापस लौटीं। जयललिता ने 2011 में एक बार फिर एआईएडीएमके को जबरदस्त जीत दिलाई। इस बार उन्होंने कई लोकलुभावन योजनाओं की घोषणा की जिसके कारण वह तमिलनाडु में काफी लोकप्रिय हुईं।
हाईकोर्ट की देखरेख में हो धर्मशाला दुष्कर्म कांड की जांच: सुशांत
धर्मशाला। धर्मशाला कॉलेज में कथित दुष्कर्म मामले में पुलिस की जांच पर विश्वास नहीं है, इसलिए जांच हाईकोर्ट की देखरेख में करवाई जाए। कथित पीडि़ता समेत सोशल साइट पर उजागर हुए आरोपियों का भी मेडिकल करवाया जाए। यह बात शुक्रवार को धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत में पूर्व सांसद एवं आम आदमी पार्टी के नेता डॉ. राजन सुशांत ने पत्रकारों से बातचीत में कही। इस मामले में धर्मशाला में पार्टी की राज्यस्तरीय बैठक भी हुई। डीसी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग भी उठाई गई। ज्ञापन में कॉलेज प्राचार्य को सस्पेंड करने की मांग भी उठाई गई है और इस बाबत आप ने एक सप्ताह का समय दिया। बकौल सुशांत, पुलिस एक जांच एजेंसी है और इस मामले में क्लीन चिट कैसे दी जा सकती है। क्लीन चिट केवल न्यायिक प्रणाली में बैठा अधिकारी ही दे सकता है। प नेता ने पुलिस व कॉलेज प्राचार्य पर भी संदेह जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि यह उच्चतम न्यायालय के आदेश हैं कि यदि कोई भी महिला किसी भी संबंध में शिकायत करती है तो तुरंत एफआइआर दर्ज होनी चाहिए। इस संबंध में प्राचार्य संदेह के घेरे में हैं, क्योंकि कार्यालय में बकायदा एंट्री रजिस्टर होता है और उसमें आने वाले व्यक्ति का नाम व पता दर्ज किया जाता है तो शिकायतकर्ता का नाम क्यों दर्ज नहीं किया गया? पुलिस पर इसलिए संदेह है कि पांचवें दिन क्यों एफआइआर दर्ज की गई।
                 Image..                         Open a new window
Top News
 
जया मामले में रिपोर्ट मिलने के बाद अपील का फैसला- सिद्धारमैया
 
हमारी अधूरी कहानी, एक रियल लव स्टोरी!
 
तड़पकर सांभर की मौत
 
संभाग से ख़बरें
Bhopal
117.248.188.53A65996bhopal.jpg
भोपाल । अशोकागार्डन इलाके में गुरुवार सुबह एक युवती पर एसिड अटैक औë
Satna
117.248.188.53A52621satna.jpg
सतना। मैहर तहसील के बदेरा थाना अंतर्गत भदनपुर के जंगल में एक सांभर 
Rewa
117.248.188.53A41115rewa.jpg
रीवा। यात्रियों को लेकर सीधी जा रही बस अनियंत्रित होकर मोहनिया घाट
 
Jabalpur
117.248.188.53A70024Kanti lal bhuria.jpg
जबलपुर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष &#
Indore
117.248.188.53A38922indor.jpg
इंदौर। इंदौर-भोपाल के बीच आष्टा के पास डोडी में पर्यटन विभाग के हाई
Sagar
117.248.188.53A78624satna.jpg
सागर। बारात की ट्रैक्टर ट्रॉली पलटने से शुक्रवार को शाम 6 बजे के करी
खेल मनोरंजन फिल्म
इस धुरंधर ने फिर दी चयनकर्ताओं के दरवाजे पर दस्तक
ग्यारह साल में बन गया ग्रेजुएट, चाहता है बनना राष्ट्रपति
हमारी अधूरी कहानी, एक रियल लव स्टोरी!
Photo Albums
NO Photo available in this Album!!
 
विज्ञापन
Market Watch
Hot Pictures of the Day
 
 Yes
 No
 Cannot say
 
News paper PDF