Mon Apr 27 19:06:22

रीवा की छुहिया घाटी में बस पलटी, 30 यात्री घायल
रीवा। गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के छुहिया घाटी में एक यात्री बस अनियंत्रित होकर पलट गई। घटना में 30 यात्री घायल हो गए। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। जानकारी के अनुसार बस सीधी से रीवा आ रही थी। घायलों को गोविंदगढ़ अस्पताल भेजा जा रहा है। गंभीर घायलों को संजय गांधी अस्पताल भेजा जाएगा।
सोहागी पहाड़ पर ट्रक पलटा, बाल-बाल बचा चालक
रीवा। इलाहाबाद मार्ग पर सोहागी पहाड़ में सड़क की दुर्दशा के चलते आए दिन दुर्घटनाओं का सिलसिला जारी है। गुरुवार सुबह यहां फिर एक ट्रक पलट गया। जिससे यातायात बाधित हो गया। हालांकि इस दौरान ट्रक चालक बाल-बाल बच गया।
किसान की खुदकुशी- केजरीवाल के घर प्रदर्शन, परिवार की सीबीआई जांच की मांग
नई दिल्ली. दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी (आप) की रैली में किसान गजेंद्र सिंह की खुदकुशी के बाद विरोधी दलों ने मुख्?यमंत्री अरविंद केजरीवाल को निशाने पर लिया है। बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल के घर और दफ्तर के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। उधर, नांगल (दौसा, राजस्थान) में गजेंद्र का अंतिम संस्कार किया गया। उनके परिवार ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।
मामले पर अब तक की अहम गतिविधियां
सीएम केजरीवाल के घर पर हुई ्र्रक्क की बैठक।
रुत्र नजीब जंग और पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी ने संसद भवन जाकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से की मुलाकात
क्राइम ब्रांच के अफसर बैकग्राउंड डीटेल जानने के लिए गजेंद्र के गांव नांगल (राजस्थान के दौसा) पहुंच गए हैं।
जल्द आएगी रिपोर्ट
केजरीवाल ने गजेंद्र की मौत की मजिस्?ट्रेट से जांच कराने के आदेश दिए हैं और कहा, ' मैं आरोप-प्रत्यारोप में नहीं पडऩा चाहता। हमारी सरकार यह जानने की पूरी कोशिश करेगी कि इतने बड़े जनसमूह के दौरान किसान ने आत्महत्या कैसे कर ली। जिलाधिकारी ने जांच शुरू कर दी है और जल्द ही सरकार के पास रिपोर्ट आ जाएगी।
पुलिस और आप सवालों के घेरे में
पुलिस पर सवाल, क्योंकि जिस समय गजेंद्र ने अपने गले में फांसी का फंदा डालकर खुदकुशी की, उस समय एक पुलिस अधिकारी और एक कांस्टेबल मौके पर मौजूद थे। पुलिस अधिकारी लगातार गजेंद्र की तरफ देखकर वायरलेस सेट से मामले की जानकारी दे रहे थे। वहीं उनके साथ मौजूद कांस्टेबल भी लगातार गजेंद्र की पूरी गतिविधि को निहार रहा था।
आम आदमी पार्टी पर सवाल, क्?योंकि दिल्ली पुलिस की ओर से बयान दिया गया है कि पुलिस की ओर से आम आदमी पार्टी को जंतर-मंतर के बदले रामलीला मैदान पर रैली करने की सलाह दी गई थी। गजेंद्र के पेड़ पर लटकने के बाद भी भाषण चलता रहा।
क्?या कहती है पुलिस
मामलेकी जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। पूरे घटना क्रम की कडिय़ों को जोडऩे का प्रयास किया जा रहा है। मामले की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले में कुछ कहा जा सकेगा।- मुकेशचंद्र कुमार मीणा, संयुक्त पुलिस आयुक्त, नई दिल्ली रेंज
कौन कर रहा जांच
किसान की मौत की जांच दिल्ली पुलिस ने क्राइम ब्रांच को सौंपी है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है।
कोर्ट में फैमिली डॉक्टर का बयान- वसीयत के वक्त ठीक थी बाल ठाकरे की दिमागी हालत
मुंबई. शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे के बड़े बेटे जयदेव का दावा है कि वसीयत लिखते वक्त उनके पिता की दिमागी हालत ठीक नहीं थी। लेकिन ठाकरे के फैमिली डॉक्टर जलील पार्कर का कहना है कि ठाकरे की दिमागी हालत और याददाश्त बिल्कुल ठीक थी। ठाकरे की वसीयत को लेकर उनके दोनों बेटों- उद्धव और जयदेव के बीच विवाद चल रहा है। उद्धव के मुताबिक ठाकरे के बैंक खातों में जमा रकम और अन्य संपत्ति लगभग 14.85 करोड़ रुपए की है। जबकि जयदेव का दावा है कि सिर्फ मातोश्री बंगला ही 40 करोड़ रुपए का है। बाल ठाकरे का 86 साल की उम्र में 17 नवंबर 2012 को निधन हुआ था। उन्होंने अपनी वसीयत पर दिसंबर 2011 में दस्तखत किए थे। इस संपत्ति विवाद पर बॉम्बे हाईकोर्ट में मंगलवार और बुधवार, दो दिन सुनवाई हुई। जस्टिस गौतम पटेल की बेंच के सामने बतौर गवाह पेश हुए फेफड़ा विशेषज्ञ डॉक्टर जलील ने कहा कि शिवसेना के पूर्व प्रमुख ने जब वसीयत पर हस्ताक्षर किए थे, तब उनकी दिमागी हालत बिल्कुल ठीक थी। जब डॉक्टर से यह पूछा गया कि पब्लिक मीटिंग के दौरान बाल ठाकरे के साथ वे क्यों रहते थे, तो उन्होंने जवाब दिया कि बाल ठाकरे ऐसा चाहते थे। लेकिन कोर्ट ने कहा कि वे अपना जवाब मेडिकल नजरिए से दें। इस पर डॉक्टर ने कहा कि वे ठाकरे के साथ इसलिए रहते थे क्योंकि कभी भी मेडिकल इमरजेंसी की स्थिति बन सकती थी। ठाकरे के फैमिली डॉक्टर से जयदेव के वकील ने भी कई सवाल पूछे। जयदेव के वकील ने पूछा, क्या यह सही है कि जब बाल ठाकरे ने वसीयत पर दस्तखत किए तो उनकी दिमागी हालत और याददाश्त ठीक नहीं थी? इस पर डॉक्टर ने कहा, यह गलत है। मैं इससे असहमत हूं। जब डॉक्टर से यह पूछा गया कि उनके उद्धव से कैसे रिश्ते हैं तो डॉक्टर ने जवाब दिया, मधुर और परिवार की तरह। डॉक्टर ने कोर्ट को यह भी बताया कि वे बाल ठाकरे की सेहत को लेकर पूरे ठाकरे परिवार से चर्चा करते थे। डॉक्टर के मुताबिक, राज और जयदेव ठाकरे भी बाल ठाकरे की सेहत के बारे में पूछते रहते थे। लेकिन बाल ठाकरे की सेहत को लेकर हर रोज उनकी खुद बाल और उद्धव ठाकरे से बात होती थी।
चर्च पर हमला- आगरा में 3 मुस्लिम हिरासत में, पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन
आगरा. यूपी के शहर आगरा में बीते 16 अप्रैल को एक चर्च पर हुए हमले के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है। एसएसपी राजेश मोदक ने बताया कि हिरासत में लिए गए लोगों की पहचान नासिर, जफर और जफरुद्दीन के तौर पर हुई है। सभी की उम्र 30 से 35 साल के बीच है। मोदक के मुताबिक, वारदात के वक्त ये तीनों घटनास्थल के आसपास मौजूद थे। वहां इनकी मौजूदगी से जुड़े सवालों का तीनों संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। उनके सेलफोन से उनकी लोकेशन ट्रेस की गई। वहीं, स्थानीय राजनीतिक दल ने इनको हिरासत में लिए जाने पर प्रदर्शन किया है।
पुलिस को शक क्यों 
जो लोग हिरासत में लिए गए हैं, उनका कहना है कि वे एक मेले में शामिल होकर वापस लौट रहे थे। पुलिस को शक इस बात का है कि आखिर इन लोगों ने 3 किमी लंबा रास्ता छोड़कर 10 किमी दूरी वाला दूसरा रास्ता वापस आने के लिए क्यों चुना? इसी रास्ते पर चर्च स्थित है। पुलिस ने यह भी कहा कि अगर तीनों बेकसूर हुए तो उन्हें जल्द छोड़ दिया जाएगा। बता दें कि 16 अप्रैल को शहर के कैंटोमेंट एरिया के प्रतापपुरा में सेंट मेरी चर्च में तोडफ़ोड़ की गई थी।
पीस पार्टी का प्रदर्शन 
तीन लोगों के हिरासत में लेने की खबर फैलते ही पीस पार्टी के सदस्यों ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाते हुए परिवार से दूर रह रहे गरीब लोगों को हिरासत में लिया है। पार्टी के मुताबिक, इन लोगों का बचाव करने वाला कोई नहीं है, इसलिए इन्हें हिरासत में लिया गया है। पीस पार्टी के जनरल सेक्रेटरी जहांगीर अल्वी ने कहा कि पकड़े गए लोग सड़क किनारे चलने वाले होटलों में काम करते हैं। ये तीनों एक कब्रगाह के करीब रहते हैं।

किसान की मौत पर हंगामा- स्पीकर ने फटकारा- कल कोई बचाने गया था?
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी की रैली में किसान की खुदकुशी मामले को कांग्रेस ने गुरुवार को संसद में उठाया। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा किया। विपक्ष के हंगामे को देखते हुए स्पीकर सुमित्रा महाजन ने लोकसभा की कार्यवाही एक बार स्थगित कर दी थी। इससे पहले हंगामा कर रहे विपक्षी सांसदों को फटकार लगाते हुए स्पीकर ने कहा, आज हंगामा करने वाले क्या कल उसको बचाने गए थे?'' दोबारा जब कार्यवाही शुरू हुई तो कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने बयान दिया।
सब अपनी-अपनी राजनीति कर रहे हैं
स्पीकर ने कहा कि किसान की मौत से किसी को सरोकार नहीं है, सब अपनी-अपनी राजनीति कर रहे हैं। महाजन ने कहा, मैं स्वयं दुखी हूं। हम सभी, जो प्रजातंत्र के स्तंभ हैं सभी किसी न किसी तरह इस मामले में दोषी हैं। मैं चाहूंगी कि सदन में इस मसले को उठाया जाए। कल की घटना से अगर एक अच्छी बात सामने आए तो अच्छा होगा। जिसने नोटिस दिया है उस पर चर्चा करेंगे। सरकार भी इस पर रिस्पांस करेगी।
राजस्थान के किसान की आत्महत्या का मुद्दा लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने उठाया। संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने कहा,  सरकार को इस मसले पर चर्चा करने में कोई दिक्कत नहीं है। गृह मंत्री भी इसपर अपना बयान देंगे। इस मामले का राजनीतिकरण नहीं किया जाए।
कांग्रेस नेता आजाद की पीएम से बयान देने की मांग
लोकसभा के अलावा कांग्रेस सदस्यों की ओर से राज्यसभा में भी हंगामा किया गया। कांग्रेस नेता गुमाल नबी आजाद ने राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कहा, किसान की मौत के लिए मोदी और दिल्ली सरकार दोषी है। इस मसले पर पीएम को सदन में आकर बयान देना चाहिए।
किसान खुदकुशी कर रहा था और असंवेदनशील नेता दे रहे थे भाषण: हुड्डा
कांग्रेस की ओर से गुरुवार को संसद में गजेंद्र की मौत पर दीपेंद्र हुड्डा ने बयान दिया। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आप नेताओं की भी आलोचना की। उन्होंन कहा, इस घटना से हमें आत्ममंथन की जरूरत है। वहां भाषण देने वालों को आत्मंथन रखना होगा। वहां किसान गले में जब फंदा लगा रहा था तो कई लोग नारे लगा रहे थे, तालियां बजा रहे थे और असंवेदनशील नेता भाषण दे रहे थे। मीडियो को भी फुटेज के चक्कर में न पड़ कर उसे बचाने के लिए कदम उठाना चाहिए थे। इस मामले में दिल्ली पुलिस की जिम्मेदारी तय की जाना चाहिए।
पाकिस्तान में हवाई हमले में मारे गए 20 आतंकी
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के खैबर एजेंसी में पाक वायुसेना के हवाई हमले में 20 आतंकी मारे गए हैं। इनमें तीन खुंखार आत्मघाती हमलावर शामिल हैं। इस बारे में पाक सेना के प्रवक्ता ने बताया कि खैबर एजेंसी के तिराह घाटी में आतंकियों पर यह हवाई हमला किया गया। तीन लड़ाकू विमानों ने आतंकियों के ठिकानों को निशाना बनाया। इस हमले में भारी मात्रा में आतंकियों के हथियार और राशन के सामान नष्ट कर दिए गए। आतंकियों के खिलाफ इस कबायली इलाके में चल रहे अभियान के तहत ये हवाई हमले किए गए। बताया गया है कि हमले में और अधिक संख्या में आतंकियों के मारे जाने की आशंका है क्योंकि हमले को लेकर विस्तृत जानकारी आनी बांकी है।
10 किमी. पैदल चलकर केदारनाथ पहुंचेंगे राहुल गांधी
देहरादून। कल केदारनाथ यात्रा पर जाने के लिए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी देहरादून पहुंच गए हैं। इस मौके पर उनके साथ कांग्रेस नेता अंबिका सोनी के साथ साथ राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत उनका स्वागत करने के लिए मौजूद रहे। यहां से राहुल गांधी हैलीकॉप्टर से गौरीकुंड जाएंगे इसका बाद वो अपनी केदारनाथ यात्रा के लिए निकलेंगे। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के शुभमुहूर्त पर 24 अप्रैल को पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी बाबा के धाम में मौजूद रहेंगे। खास बात यह है कि वे गौरीकुंड से केदारनाथ धाम तक का सफर पैदल ही तय करेंगे। राहुल के इस केदारनाथ दौरे के सियासी निहितार्थ भी निकाले जा रहे हैं। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर परोक्ष रूप से कांग्रेस सरकार के सियासी हमले के तौर पर भी देखा जा रहा है। जून 2013 में उत्तराखंड में हुई जलप्रलय के दौरान गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी भी देवभूमि आए थे, मगर तब सेना व एनडीआरएफ द्वारा चलाए जा रहे रेश्क्यू ऑपरेशन के मद्देनजर उन्हें आपदाग्रस्त क्षेत्रों में जाने की अनुमति नहीं दी गई। ऐसे में नरेंद्र मोदी दो दिन तक देहरादून में ही टिके रहे। हालांकि, बाद में आपदाग्रस्त क्षेत्रों का मात्र हवाई दौरा कर उन्हें वापस लौटना पड़ा। खास बात यह है कि उस वक्त नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकार से केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण का दायित्व गुजरात सरकार को सौंपने की पेशकश भी की थी, जिसे तत्कालीन बहुगुणा सरकार ने स्वीकार नहीं किया। दिलचस्प पहलू यह है कि नरेंद्र मोदी के लौटने के कुछ दिन बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी उत्तराखंड आए और सड़क मार्ग से होते हुए गुप्तकाशी तक भी पहुंचे। उस वक्त विपक्षी दल भाजपा ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर दोहरे मापदंड अपनाने के आरोप लगाए थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद भी नरेंद्र मोदी के केदारनाथ आने की कई बार चर्चा हुई, मगर वे अब तक केदारनाथ नहीं आए। यही वजह है कि राहुल गांधी के प्रस्तावित केदारनाथ दौरे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर परोक्ष रूप से कांग्रेस सरकार के सियासी हमले के रूप में भी देखा जा रहा है। पर्यटन व तीर्थाटन को आपदा के सदमे से उबारने की कोशिश में जुटी राज्य सरकार ने पिछले दिनों राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को केदारनाथ आने का न्यौता भी दिया था। राष्ट्रपति का कार्यक्रम तय भी हो गया था, मगर बाद में किन्हीं वजहों से रद हो गया। राज्य सरकार केदारनाथ में बड़ी हस्ती को बुलाकर देश-दुनिया में सुरक्षित उत्तराखंड का संदेश देने की कोशिश में जुटी थी। ऐसे में राहुल गांधी के केदारनाथ दौरे को राष्ट्रपति का दौरा रद होने की भरपाई के तौर पर भी देखा जा रहा है। लिंचौली में रात्रि विश्राम करने के बाद 24 अप्रैल को पैदल केदारनाथ धाम पहुंचेंगे। राहुल गांधी इस दौरान केदारनाथ में यात्रा की व्यवस्थाओं का जायजा भी लेंगे।
मोदी के नीति ज्ञान पर खेमका ने दागा सवाल
चंडीगढ़। हरियाणा के चर्चित आइएएस अधिकारी डॉ. अशोक खेमका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सिविल सेवा दिवस पर आइएएस अधिकारियों को दी गई नसीहत पर ही सवाल उठा दिए हैं। खेमका ने मोदी के राजनीतिक अड़चन व हस्तक्षेप के नीति ज्ञान पर ट्वीट कर लिखा है कि नीयत न हो तो नीति नाकाम। उनके इस ट्वीट में शामिल नीयत शब्द का अर्थ राजनीतिज्ञों की मंशा से जोड़कर निकाला जा रहा है। खेमका के ट्वीट में हालांकि ये स्पष्ट नहीं है कि नीयत न होने को लेकर उन्होंने किस पर निशाना साधा है। खेमका ने सिविल सेवा दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए भाषण पर ट्वीट कर अपनी बेबाकी को फिर से साबित कर दिया है। अपने 24 वर्ष के प्रशासनिक कार्यकाल में खेमका 47 तबादले झेल चुके हैं। इसलिए अपने ट्वीट में उन्होंने राजनीतिक हस्तक्षेप पर निशाना साधा है। खेमका हाल ही में हरियाणा के परिवहन आयुक्त के पद से हटाए गए हैं। उन्हें पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के महानिदेशक पद पर भेजा गया है। इसलिए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राजनीतिक अड़चन व हस्तक्षेप की बात करने पर ट्वीट किया है। तबादले के बाद खेमका राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज, मुख्य सचिव डीएस ढेसी से भी अच्छी पोस्टिंग के लिए मुलाकात कर चुके हैं। उन्हें मनोहर सरकार के स्वास्थ्य मंत्री विज का भी पूरी तरह से साथ मिला है।
गजेंद्र आत्महत्या- पुलिस कर सकती है आप नेताओं से पूछताछ
नई दिल्ली। राजस्थान के किसान गजेंद्र सिंह की आत्महत्या के मामले में प्रधानमंत्री के सीधे हस्तक्षेप के बाद दिल्ली पुलिस हरकत में आ गई है। पुलिस ने मामले की जांच तेज करते हुए एक तरफ जहां क्राइम ब्रांच की विशेष टीम राजस्थान रवाना कर दी है, वहीं मृतक किसान के फोन कॉल आदि खंगाले जा रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली पुलिस की टीम इस मामले में 'आप' नेताओं से पूछताछ कर सकती है।
इससे पहले परिजन यह आरोप लगा चुके हैं कि गजेंद्र, किसान रैली के पहले से ही मनीष सिसौदिया के संपर्क में था। पुलिस इस मामले में परिजनों का बयान भी दर्ज करेगी। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मसले पर मंत्रियों के कोर टीम की बैठक बुलाई थी। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित कई वरिष्ठ मंत्री इस बैठक में मौजूद थे।
इससे पहले राजनाथ सिंह को दिल्ली पुलिस आयुक्त ने मामले की प्राथमिक रिपोर्ट सौंपी थी। दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग और दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी गृहमंत्री से मिले थे। सूत्रों का कहना है कि इस मामले में एफआईआर भी दर्ज की जा सकती है। इस बीच पुलिस की कार्यशैली पर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस से इस मामले में भारी चूक हुई है।
गजेंद्र आत्महत्या कांड से जुड़ी खबरों के लिए क्लिक करें
पुलिस पर उठ रहे हैं सवाल :
- हाई सिक्योरिटी जोन में पुलिस की नजर चप्पे-चप्पे पर क्यों नहीं थी
- राज्य का मुख्यमंत्री मंच पर थे और उंची जगहों पर पुलिस मुस्तैद क्यों नहीं थी
- दमकल विभाग के कर्मचारियों की नजर क्यों नहीं पड़ी
- मौके पर ही प्रशासन की ओर से मेडिकल सुविधा क्यों उपलब्ध नहीं थी
- आपातकालीन स्थिति में होने वाली प्रतिक्रिया पुलिस ने क्यों नहीं दिखाई
                 Image..                         Open a new window
Top News
 
10 किमी. पैदल चलकर केदारनाथ पहुंचेंगे राहुल गांधी
 
नरयावली में खड़े ट्रेक्टर में बाइक घुसी, दो की मौत
 
कोर्ट में फैमिली डॉक्टर का बयान- वसीयत के वक्त ठीक थी बाल ठाकरे की दिम
 
संभाग से ख़बरें
Bhopal
117.204.192.161A93712bhopal.jpg
भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने खंडवा में जल सत्याग्रह
Satna
117.204.192.161A91268satna.jpg
सतना। बारात दरवाजे पर आकर खड़ी थी, लेकिन जब बारातियों को पता चला कि द&#
Rewa
117.204.192.161A92413rewa-gurh.jpg
रीवा। गुढ़ चौराहा पर स्कूल के समीप खुल रही शराब दुकान का स्थानीय लो
 
Jabalpur
117.204.192.161A25630jabalpur.jpg
जबलपुर। दुनिया में अभी तक ऐसी कोई मशीन या उपकरण नहीं बनाया जा सका है &#
Indore
117.204.192.161A7343indor.jpg
इंदौर। बरात आ चुकी थी और दुल्हन मंडप की ओर जा रही थी। इसी बीच सरकारी म&
Sagar
117.204.192.161A86505sagar.JPG
सागर। नरयावली थाना क्षेत्र स्थित बीस मील तिराहा पर सड़क किनारे खड़
खेल मनोरंजन फिल्म
आइसीसी रैंकिंग में हुआ उलटफेर, भारत नंबर दो पर कायम
तीन साल से अकेले पिंजरे में बंद तोते ने दिए तीन अंडे
शशि कपूर के लिए वीडियो रिकॉर्ड करते समय भावुक हो गए अमिताभ
Photo Albums
NO Photo available in this Album!!
 
विज्ञापन
Market Watch
Hot Pictures of the Day
 
 Yes
 No
 Cannot say
 
News paper PDF