Sun Jun 24 23:45:07

महंगाई के खिलाफ मोदी सराकर पर बरसी कांग्रेस, बैलगाड़ी, ठेला अैर साइकिल पर सवार होकर किया प्रदर्शन
इंदौर। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस द्वारा शनिवार को एक बार फिर प्रदर्शन किया गया। गांधी हॉल से कलेक्टोरेट तक निकाली गई जन आक्रोश रैली में ठेलागाड़ी, तांगा, बैलगाड़ी, साइकिल आदि पर सवार होकर कांग्रेसियों ने भाजपा सरकार के विरोध में नारे लगाए। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसी विरोध स्वरूप पीएम और सीएम के वादों की पोल खोलती तख्ती भी लेकर चल रहे थे।
- प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेताओं ने तेल कीमतों में हो रही वृद्धि को लेकर सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि अब नौबत आ गई है कि बैलगाड़ी और साइकिल की सवारी की जाए। प्रदर्शन के दौरान मप्र कांग्रसे कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी बंद जीप खींचते हुए चल रहे थे।
सबके साथ विश्वासघात हुआ
कांग्रेसियों का कहना है कि भाजपा के लोग लोग चाल, चरित्र और चेहरा अलग होने का दावा करते थे लेकिन इन्होंने अपने ही सिद्धांतों की धज्जियां उड़ा दीं। देश में अविश्वास, भय और हिंसा का माहौल है, हर वर्ग परेशान है। किसान, युवा, व्यापारी सबके साथ विश्वासघात हुआ है। भाजपा विपक्ष में रहते हुए मंहगाई को लेकर तमाशा करती थी, आज देखिए कि पेट्रोल और डीजल की कीमत कहां पहुंच गई, आम लोगों की जेब पर डाका डाला जा रहा है लेकिन भाजपा के नेताओं के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है।
लगा रहे थे यह नारे
- शिवराज तेरा कैसा खेल,सस्ती दारू मंहगा तेल
- जुमले बाजी बंद करो मोदी अब महंगाई कम करो
- बहुत हुई महंगाई की मार अबकी बार मोदी बाहर
- अच्छे दिन का धोखा है करों अब चोट यही मौका है
- बहुत हुई महंगाई की मार निक्कमी है मोदी सरकार
- देश के गरीब, किसान, युवा, महिलाओं के साथ भाजपा ने किया विश्वासघात,चार सालों में की सिर्फ बात ही बात
-देखों ये मोदी का खेल,पूरे विश्व में भारत में,सबसे मंहगा तेल
लोन के लिए भरवाया था फार्म
पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी के खिलाफ कांग्रेस लगातार प्रदर्शन कर रही है। इससे पहले कांग्रेस ने भाजपा सरकार की दीनदयाल योजना सहित अन्य योजनाओं में पेट्रोल-डीजल खरीदने के लिए लोगों से लोन के फॉर्म भरवाए थे। लोन के फार्म भरवाते समय आमजन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदा बेन के मुखौटे लगाए कार्यकर्ता भी थे, उन्होंने भी फॉर्म भरा था। कांग्रेसियों का कहना है कि लोगों से जो फार्म भरवाए गए हैं उन्हें प्रधानमंत्री और आरएसएस कार्यालय भिजवाए जाएंगे।
सांवेर में 27 को साइकिल रैली
- पेट्रोल-डीजल और गैस के दाम में वृद्धि को लेकर पूर्व विधायक तुलसी सिलावट के नेतृत्व में 27 मई शाम 5 बजे मांगलिया से शिप्रा तक साइकिल यात्रा निकालकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। 28 मई को सांवेर में प्रदर्शन होगा।
मप्र सरकार वैट में करे कमी
पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम करने के लिए नीति आयोग ने राज्य सरकारों को वैट में 10 से 15त्न तक की कटौती करने की सलाह दी है। यदि नीति आयोग की सलाह पर राज्य सरकार 10त्न भी वैट कम कर दे तो पेट्रोल पर सीधे 6.22 रु. प्रति लीटर की राहत मिल जाएगी और वैट केवल 11 रु. प्रति लीटर रह जाएगा। इसी तरह डीजल पर प्रति लीटर 5.89 रु. की राहत मिल जाएगी। साल 2017 के अप्रैल व मई में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स से मप्र शासन को कुल 1041 करोड़ की आय हुई थी। जबकि इस साल इन दो माह में आय 1106 करोड़ हुई। यानी कीमत बढऩे से राज्य की आय प्रति दिन की 1.08 करोड़ रुपए बढ़ गई।
जल्द कम हो सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, एमपी के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने दिए संकेत
भोपाल. मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने पेट्रोल और डीजल के दाम कम होने के संकेत दिए हैं। भास्कर से चर्चा में उन्होंने बताया कि शुक्रवार को ही अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत में 3 डालर की कमी आई है। जल्द ही इसका असर भारत में भी देखने को मिलेगा। उन्होंने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने पर सहमति जताई। साथ ही ये भी कहा है कि इसमें प्रदेश सरकार अपने हित जरूर ध्यान में रखेगी।
- बता दें कि मध्य प्रदेश महाराष्ट्र के बाद दूसरा प्रदेश है, जिसने पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की वकालत की है। पिछले दिनों महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सबसे पहले पेट्रोल-डीजल की कीमत कम करने के लिए इस पर जीएसटी लगाने का समर्थन किया था। हालांकि इसके लिए सभी राज्यों की सहमति की जरूरत होगी।
- वित्त एवं वाणिज्यकर मंत्री जयंत मलैया ने कहा कि जीएसटी काउंसिल में यदि पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने का प्रस्ताव आता है तो हम तैयार हैं। लेकिन, जीएसटी काउंसिल
को ही यह काम करना होगा, राज्य अपनी सहमति दे सकता है। कर्नाटक चुनाव के बाद से पेट्रोल-डीजल के दामों में रोजाना बढ़ोतरी हो रही है। इससे पूरे देश में पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की बहस शुरू हो रही है।
आज भोपाल में 14 पैसे और डीजल 16 पैसे महंगा मिलेगा
- अंतरराष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार को कच्चे तेल के दाम 80 डॉलर प्रति बैरल से घटकर 77 डॉलर प्रति बैरल पर आ गए। यानी पेट्रोल-डीजल सस्ता होने की एक उम्मीद जगी है। शनिवार को लगातार तेल की पेट्रोल में भोपाल में पेट्रोल 14 और डीजल 16 पैसे प्रति लीटर और महंगा बिकेगा।
10 फीसदी टैक्स घटाती है तो सस्ता हो जाएगा
- एक दिन पहले नीति आयोग ने राज्य सरकारों को 10 से 15 फीसदी टैक्स कम करने की सलाह दी थी। यदि मप्र सरकार इस सलाह को मानकर पेट्रोल-डीजल की मौजूदा कीमतों पर 10 फीसदी टैक्स घटाती है तो पेट्रोल 4.86 रु. और डीजल 5.18 रुपए प्रति लीटर सस्ता हो जाएगा। इससे सरकार का राजस्व करीब 838 करोड़ रुपए घट जाएगा। दिलचस्प ये है कि सरकार पहले ही मौजूदा वित्तीय वर्ष में इस टैक्स से 1600 करोड़ रु. कमा चुकी है, जो कि पिछले साल की उसकी आय से 16त्न ज्यादा है।
सरकार के राजस्व पर आएगा संकट
- पेट्रोल-डीजल पर जीएसटी लगाने में सबसे बड़ी बाधा सरकार के राजस्व में आने वाली कमी है। जिम्मेदार अधिकारियों के अनुसार, यदि पेट्रोल-डीजल पर जीएसटी लगता है तो केंद्र और राज्य सरकार के राजस्व में काफी कमी आ जाएगी। इसका हल खोजे बिना पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना मुश्किल है। वित्त मंत्री जयंत मलैया से जब टैक्स कम करने के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि सरकार इस पर विचार नहीं कर रही। नीति आयोग के कहने भर से टैक्स में कमी नहीं की जाएगी, केंद्र सरकार को भी देखना पड़ेगा।
35 रुपए के पेट्रोल पर 41 रुपए टैक्स
- पेट्रोल : 83 रुपए 49 पैसे प्रति लीटर कीमत। केंद्र सरकार 19.48 रुपए एक्साइज ड्यूटी लेती है। राज्य सरकार तीन तरह के टैक्स वसूलती है। 28 प्रतिशत वैट, एक प्रतिशत सैस और 4 रुपए प्रति लीटर एडिशनल टैक्स। लगभग कुल 21 रुपए 50 पैसे प्रति लीटर। इस तरह दोनों सरकारें 41 रुपए 69 पैसे एक लीटर पेट्रोल से टैक्स वसूलती हैं।
40 रुपए के डीजल पर 32 रुपए टैक्स
- डीजल : 72 रुपए 40 पैसे प्रति लीटर डीजल। केंद्र 15.33 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लेता है। मप्र 22 प्रतिशत वैट और एक प्रतिशत सेस के साथ 15 रुपए 97 पैसे टैक्स लेती है। दोनों सरकार लगभग 31 रुपए 98 पैसे टैक्स वसूलती हैं।
यदि जीएसटी लागू कर दें तो...
- पेट्रोल-डीजल को यदि जीएसटी के दायरे में ले आएं तो ईंधन की कीमत में भारी कटौती हो सकती है। जीएसटी की अधिकतम दर 28 प्रतिशत है। यदि पेट्रोल-डीजल पर 28 प्रतिशत टैक्स लगाया जाए तो पेट्रोल-डीजल की कीमत 50 रुपए के आसपास आ जाएगी।
पाक ने अपने 54 कैदियों को रिहा करने की मांग की
इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने अपनी सजा पूरी करने के बावजूद भारत की जेलों में बंद अपने 54 नागरिकों को रिहा करने की मांग की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने शुक्रवार को पत्रकारों से कहा कि पाकिस्तान कैदियों की अदला-बदली के अपने प्रस्ताव पर भी भारत के जवाब का इंतजार कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमने सात मार्च को भारत के सामने दोनों देशों की जेलों में बंद 60 साल से अधिक और 18 साल से कम उम्र के कैदियों को रिहा करने का प्रस्ताव रखा था। हम अब भी इसके जवाब का इंतजार कर रहे हैं। फैसल ने पाकिस्तान में भारतीय श्रद्धालुओं की तीर्थयात्रा को सुगम बनाने का भी दावा किया। उन्होंने कहा कि उनका देश अपने पड़ोसियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाना चाहता है।
किसान ने लगाई फांसी, ग्रामीणों ने शव रखकर किया चक्काजाम
बैतूल। जिले के चिचोली थाना क्षेत्र में ग्राम पाठाखेडा में रहने वाले किसान अम्मू पिता जिराती उइके ने खेत मे फांसी के फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। शनिवार की सुबह उसकी लाश खेत मे फांसी के फंदे पर झूलती मिली। बताया गया कि किसान ने कर्ज से तंग आकर आत्महत्या की है। किसान की आत्महत्या से नाराज ग्रामीणों ने हाइवे पर किसान का शव रखकर चक्काजाम कर दिया। बताया जा रहा है कि बैक कर्मी कर्ज का तकादा कर बीते दो दिन से उसके घर के चक्कर लगा रहे थे। जानकारी के अनुसार अम्मू पिता जिराती उइके (42) पाठाखेड़ा का रहने वाला था ।उस पर 2 लाख से अधिक का केसीसी का कर्ज था। बैंक के लोग लगातार कर्ज चुकाने के लिए दबाव दे रहे थे इसी कारण उसने आज सुबह खेत मे फांसी लगाई। नाराज ग्रामीणों ने हाईवे 59 ्र पर चक्का जाम कर दिया है।परिजनों ने बताया कि एसबीआई बैक वाले तीन दिन से कर्ज वसूलने मृतक के घर पर चक्कर लगा रहे थे।पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को शांत कराकर शव को पोस्टमार्टम के लिए चिचोली अस्पताल भेजने के लिए कहा लेकिन ग्रामीण नही माने और हाइवे से हट गए और पेड़ के नीचे शव लेकर बैठे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक कलेक्टर मौके पर नही आते तब तक वे नही हटेंगे।
मोदी सरकार के 4 साल: अमित शाह ने कहा- 2019 में शिवसेना के साथ लडऩा चाहते हैं चुनाव
नई दिल्ली। मोदी सरकार के केंद्र में 4 साल पूरे हो चुके हैं और इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओं के अलावा विकास के लिए किए गए कामों की भी जानकारी दी। शाह ने कहा कि भाजपा ने सबसे मेहनती और सर्वाधिक पंसद किए जाने वाले पीएम दिए हैं। पीएम जो 15-18 घंटे काम करते हैं, हमे गर्व है कि वो हमारी पार्टी के नेता है। भाजपा को गौरव है कि मोदी जी के नेतृत्व में हमने भ्रष्टाचार विहीन, कड़े फैसले करने वाली और गरीब-गांव-किसानों के हितों को समझने वाली सरकार दी है।
शिवसेना के साथ लडऩा चाहते हैं चुनाव
महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना के बीच तनाव के बाद भले ही शिवसेना ने 2019 का लोकसभा चुनाव अकेले लडऩे की घोषणा की हो लेकिन भाजपा ऐसा नहीं चाहती। जब भाजपा अध्यक्ष से पूछा गया कि शिवसेना उनके साथ चुनाव नहीं लडऩा चाहती लेकिन फिर भी केंद्र और राज्य में गठबंधन किए हुए है। इस पर अमित शाह ने कहा कि यह सवाल आप उनसे जाकर पूछें। शाह ने कहा कि हम 2019 का चुनाव शिवसेना के साथ लडऩा चाहते हैं।
पेट्रोल और डीजल को लेकर ढूंढ रहे लंबे समय का समाधान
देश में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर शाह ने कहा कि आज जो पेट्रोल और डीजल की कीमतें हैं वो यूपीए काल में लगातार तीन साल तक इतनी ही थीं। लेकिन वो लोग हमारी सरकार में सिर्फ तीन दिन में ही इससे घबरा गए। सरकार कीमतों पर विचार कर रही है और ऐसा समाधान ढूंढ लगी है जो लॉन्ग टर्म हो।
परिवारवाद, तुष्टिकरण की राजनीति को बदला
शाह ने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने परिवारवाद, तुष्टिकरण और जातिवाद की राजनीति को बदलकर पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस को आगे बढ़ाने का काम किया है। साथ ही मोदी सरकार ने 'सबका साथ - सबका विकास' के सूत्र को चरितार्थ करने का काम किया है। हमने स्व-रोजगारी को बढ़ावा देकर करोड़ों लोगों को रोजगारी देने का काम किया है। हमने एक भी घोटाले के बिना लाखों-करोड़ के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स को पूरा करने का काम किया है। शाह ने आगे कहा कि, कृषि बजट को दोगुना करने वाली ये पहली सरकार है। भारत आज सबसे तेज गति से बढऩे वाली अर्थव्यवस्था बन कर विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुकी है।
विपक्ष पर तीखा हमला
अमित शाह ने इस दौरान विपक्ष पर भी तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि विपक्ष का एजेंडा है कि मोदी और भाजपा को सत्ता से हटाया जाए। जबकि भाजपा का एजेंडा है कि देश से गरीबी, भ्रष्टाचार और अव्यवस्था को हटाया जाए। 2019 में सभी विपक्षी दलों के गठबंधन पर शाह ने कहा कि इससे पहले हुए चुनावों में भी बाकी दल खिलाफ ही चुनाव लड़े हैं लेकिन जीत भाजपा को मिली है।
तूतीकोरिन हिंसा की कड़ी निंदा
एक सवाल के जवाब में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि तूतीकोरिन में जो कुछ हुआ उस पर केंद्र ने कड़ी आपत्ति जताई है और राज्य सरकार को कड़े निर्देश दिए हैं कि ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय ने इस मामले पर रिपोर्ट भी मांगी है।
                 Image..                         Open a new window
Top News
 
जल्द कम हो सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, एमपी के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने दिए संकेत
 
व्यापमं घोटाला - पीपुल्स कॉलेज के चेयरमैन विजयवर्गीय को बेल
 
किसान ने लगाई फांसी, ग्रामीणों ने शव रखकर किया चक्काजाम
 
संभाग से ख़बरें
Bhopal
117.204.202.185A90654bhopal.jpgभोपाल। प्रदेश के साढ़े तीन लाख पेंशनर्स बढ़ी हुई पेंशन के मुद्दे पर लामबंद होने लगे हैं। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के सामने वे लगातार दबाव बना
Satna
117.204.202.185A79009satna.jpgसतना। राज्य शासन के अभियान के तहत मजदूरो को सुरक्षा और सम्मान के लिये मध्यप्रदेश की सभी ग्राम पंचायतो मे पहली बार विशेष ग्राम सभाओ का आयोजन किया गया। इन
Rewa
117.204.202.185A1319rewa.jpgरीवा। उद्योग एवं खनिज साधन मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने पीली कोठी कंपाउंड में 10.78 लाख रूपये की लागत से निर्मित चौपाटी का लोकार्पण कर कहा कि रीवा नगर के सुव्य
 
Jabalpur
117.204.202.185A45377jabalpur.jpgजबलपुर। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने पीपुल्स मेडिकल कॉलेज भोपाल के चेयरमैन सुरेश एस विजयवर्गीय की जमानत अर्जी मंजूर कर ली। यह राहत सरेंडर किए जाने के आधार प
Indore
117.204.202.185A30992indor.jpgइंदौर । आरटीओ में शनिवार को कुख्यात बदमाश सतीश भाऊ के आने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। नाराज आरटीओ ने बाबूओं की बैठक बुलाकर उन्हें फटकार लगाई है। कार्या
Sagar
117.204.202.185A5213sagar.jpgसागर। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत महाराजा छत्रसाल नगर में 1248 आवासों का निर्माण कार्य पूर्ण होने पर भवन आधिपत्य कार्यक्रम में 727 हितग्राहियों को आवास
खेल मनोरंजन फिल्म
विराट कोहली ने इस खिलाड़ी के घर उठाया बिरयानी का लुत्फ
इस बार कई रूप बदलने वाली है नागिन
रणबीर कपूर बने डाकू, फिल्म का नाम है शमशेरा
Photo Albums
1
 
विज्ञापन
Market Watch
Hot Pictures of the Day
 
 Yes
 No
 Cannot say
 
News paper PDF